अभिनंदन के अभिनंदन में पुलवामा के 40 की शहादत भूल न जाना!


तब तक बंद करो यह ढोल नगाड़े!



अभिनंदन के अभिनंदन में पुलवामा के 40 की शहादत भूल न जाना

1 के आने की खुशी अच्छी है
लेकिन 40 जो कभी न आएंगे उनका क्या?

कहने का अर्थ यह कि काम अभी पूरा नहीं हुआ है।

आतंकियों के मरने से दुखी पाक ने हमारे देश मे लड़ाकू जहाज़ भेज दिए। और हम उनके एक F16 को मारकर खुश हो रहे है। 

दुनिया के इतिहास में पहली बार एक मिग- 21 द्वारा एक F16 को मार गिराने का अद्भुत कार्य अभिनंदन ने किया है। ऐसे कई अभिनंदन और चाहिए और उन्हें सुखोई जैसे विमान देकर भेज दो। 

जब तक कि एयर इंडिया के विमान IC 184 को हाइजैक कर उसके यात्रियों की जान के बदले छोड़े गए मसूद अज़हर को कफन नसीब न हो जाये। 

एयर इंडिया के उस विमान के यात्री क्या चैन से सो पाते होंगे जिनकी जान की कीमत के बदले  आज तक न जाने कितने ही लोग हाफिज सईद और मसूद अज़हर जैसे आतंकी के शैतानी मंसूबो की भेंट चढ़ गए।

तब तक बंद करो यह ढोल नगाड़े।

वीरेंद्र

Comments

Popular posts from this blog

सूर्य ग्रहण में सूतक के नियम एवं जानकारियाँ

घी क्यों और कितना खाएं? - इस विषय पर संक्षिप्त परन्तु तृप्त करने योग्य जानकारी।

*कश्यपसंहिता में वर्णित 3 हज़ार वर्ष पुराना आयुर्वेदिक टीकाकरण - स्वर्णप्राशन*