Posts

Showing posts from June, 2019

बन गई मोदी सरकार तो अब आगे क्या? -पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ जी

Image
बन गई मोदी सरकार तो अब आगे क्या? ऋषिकेश, 03 जून 2019 पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ जी

Another propaganda: Spa birthday parties for kids

Image
Another propaganda: Spa birthday parties for kids




*************
आने वाली पीढ़ियों पर करें उपकार
भारतीयता स्वीकार अंग्रेज़ियत का बहिष्कार
आज टाइम्स ऑफ इंडिया में एक समाचार पढ़ा, जिसमें बच्चों के जन्म दिवस पर सामान्य तौर पर होने वाली पार्टी की जगह स्पा पार्टी के आयोजन की बात कही गई।
यह खबर किसी राष्ट्रीय विषय को उठाने के अंतर्गत नहीं छापी अपितु वह किसी एक मूर्ख महिला द्वारा अपने बच्चे के लिए की गई इस पार्टी को देशभर में अनुसरण कर करवाने के लिए छापी।
राजीव भाई टाइम्स ऑफ इंडिया पढ़ते थे क्योंकि उन्हें पता है कि जितने भी षड्यंत्र हैं उनकी जानकारी इस अखबार को पढ़ने से अवश्य मिल जाएगी।


यहां षड्यंत्र यह है कि किसी कंपनी द्वारा एक महिला को ऐसी पार्टी करने की प्रेरणा देकर और फिर राष्ट्रीय अखबार में उसे प्रमुखता से स्थान देने के लिए व्यवस्था की गई और इसका प्रभाव यह होगा कि पैसे से समृद्ध परंतु बुद्धि से पैदल लोग इसका अंधानुकरण करेंगे। जो बचपन से ही बच्चों को ब्यूटी पार्लर जैसे स्थान का ग्राहक बनाने की तैयारी कर देगा जिसके फलस्वरूप इन ब्यूटी पार्लर में प्रयोग होने वाली कॉस्मेटिक्स और अ…

अब योग होगा, योगा नहीं होगा!

Image
अब योग होगा, योगा नहीं होगा!



सभी योगाचार्य, शिष्य, योग, भारतीयता, स्वदेशी, राजीव दीक्षित के समर्थको से अनुरोध है की कम से कम ऐसे शब्दों को तो हम न बिगाड़े जिनसे हमारे भारत की पहचान है

पतंजलि ऋषि ने हमने योग की शिक्षा दी लेकिन अब उसे योगा बना दिया

ठीक वैसे ही

आयुर्वेद को आयुर्वेदा

राम को रामा

बुद्ध को बुद्धा

वेद को वेदा

आदि आदि

बोलते है जो अंग्रेजी राज के कारण उत्पन्न हुई विकृति है और अजादी के इतने सालो बाद भी प्रयोग होना अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है

इसीलिए अपने स्तर पर यह आन्दोलन चलाओ की जहाँ भी यह शब्द गलत लिखे मिले उन्हें ठीक करवाए और आवाज़ उठाये।
******
वीरेंद्र की लेखनी से सह-संस्थापक गोधूली परिवार VirenderSingh.in GauDhuli.com ********* गोधूलि परिवार से कैसे जुडे? 200 परिवार गोधूली साकार
******************* गोधूली परिवार: सदस्यता प्रपत्र https://goo.gl/vHBPwv
क्या है गोधूलि ? जानने के लिए वीडियो
https://youtu.be/NImemym3XcE

त्रिफला खाकर हाथी को बगल में दबा कर 4 कोस ले जाएँ!

Image
वह सब जो आप त्रिफला के विषय मे नही जानते!



त्रिफला खाकर हाथी को बगल में दबा कर 4 कोस ले जाएँ!
गोधूली परिवार द्वारा प्रमाणित सर्वश्रेष्ठ त्रिफला
गुरुकुल प्रभात आश्रम का *त्रिफला सुधा*

त्रिफला के विषय मे सरल एवं विस्तार पूर्वक जाने की क्यो कहा जाता है कि

हरड़ बहेड़ा आंवला घी शक्कर संग खाए
हाथी दाबे कांख में और चार कोस ले जाए (1 कोस = 3-4 km)

वात पित कफ को संतुलित रखने वाला सर्वोत्तम फल त्रिफला वाग्भट्ट ऋषि के अनुसार इस धरती का सर्वोत्तम फल त्रिफला लेने के नियम-

त्रिफला के सेवनसे अपने शरीरका कायाकल्प कर जीवन भर स्वस्थ रहा जा सकता है।

आयुर्वेद की महान देन त्रिफला से हमारे देश का आम व्यक्ति परिचित है व सभी ने कभी न कभी कब्ज दूर करने के लिए इसका सेवन भी जरुर किया होगा पर बहुत कम लोग जानते है इस त्रिफला चूर्ण जिसे आयुर्वेद रसायन मानता है।
अपने कमजोर शरीर का कायाकल्प किया जा सकता है। बस जरुरत है तो इसके नियमित सेवन करने की, क्योंकि त्रिफला का वर्षों तक नियमित सेवन ही आपके शरीर का कायाकल्प कर सकता है।

सेवन विधि - सुबह हाथ मुंह धोने व कुल्ला आदि करने के बाद खाली पेट ताजे पानी के साथ इसका सेवन करें …

56 देशों मे बैन आयोडीन नमक भारत में क्यों नहीं?

Image
56 देशों मे बैन आयोडीन नमक भारत में क्यों नहीं?



क्या आपके नमक में आयोडीन है? US, जर्मनी समेत 56 देशों में प्रतिबंधित है आयोडीन नमक
वैश्विक स्तर पर तमाम नसीहतों तथा अमेरिका, डेनमार्क और जर्मनी समेत विश्व के 56 प्रमुख देशों में प्रतिबंधित आयोडीन युक्त नमक का चलन हमारे देश में बदस्तूर जारी है। विश्व बैंक के अध्ययन और संयुक्त राष्ट्र के खाद्य एवं कृषि संगठन (एफएओ) की रिपोर्ट में इसके दुष्प्रभाव तथा अनुपयोगिता पर विस्तार से प्रकाश डाला गया है, पर तमाम प्रयासों के बावजूद भारत सरकार ने इस पर पाबंदी लगाने के बजाय इसका उपयोग अनिवार्य कर रखा है।
40 से ज्यादा बीमारियों की वजह है आयोडीन नमक *************************
अमेरिकी कैंसर शोध संस्थान के वरिष्ठ सदस्य डॉक्टर फ्रेडरिक हाफमैन समेत कई शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन में आयोडीन युक्त नमक को मानव स्वास्थ्य के लिए घातक पाया है और इसे कैंसर, लकवा, रक्त चाप, खारिश खुजली, सफेद दाग, नपुंसकता, डायबिटीज और पथरी जैसी 40 से भी ज्यादा बीमारियों का जनक बताया है।
दुनिया के कई देशों में प्रतिबंधित होने के बावजूद भारत में आयोडीन नमक का इस्तेमाल क्यों होता है सरकार के पास…