अब योग होगा, योगा नहीं होगा!

अब योग होगा, योगा नहीं होगा!




सभी योगाचार्य, शिष्य, योग, भारतीयता, स्वदेशी, राजीव दीक्षित के समर्थको से अनुरोध है की कम से कम ऐसे शब्दों को तो हम न बिगाड़े जिनसे हमारे भारत की पहचान है

पतंजलि ऋषि ने हमने योग की शिक्षा दी लेकिन अब उसे योगा बना दिया

ठीक वैसे ही

आयुर्वेद को आयुर्वेदा

राम को रामा

बुद्ध को बुद्धा

वेद को वेदा

आदि आदि

बोलते है जो अंग्रेजी राज के कारण उत्पन्न हुई विकृति है और अजादी के इतने सालो बाद भी प्रयोग होना अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है

इसीलिए अपने स्तर पर यह आन्दोलन चलाओ की जहाँ भी यह शब्द गलत लिखे मिले उन्हें ठीक करवाए और आवाज़ उठाये।
******
वीरेंद्र की लेखनी से
सह-संस्थापक
गोधूली परिवार
*********
गोधूलि परिवार से कैसे जुडे?
200 परिवार गोधूली साकार
*******************
गोधूली परिवार: सदस्यता प्रपत्र

क्या है गोधूलि ? जानने के लिए वीडियो
https://youtu.be/NImemym3XcE

Comments

Popular posts from this blog

*कश्यपसंहिता में वर्णित 3 हज़ार वर्ष पुराना आयुर्वेदिक टीकाकरण - स्वर्णप्राशन*

त्रिफला खाकर हाथी को बगल में दबा कर 4 कोस ले जाएँ! जानिए 12 वर्ष तक लगातार असली त्रिफला खाने के लाभ!

लेख: भ्रष्टाचार की महामारी : झूठ बड़ा है तो सच होने का आभास दे रहा है लेकिन है झूठ ही!