यह शरीर पूर्वजो का ऋण है - वीरेंद्र सिंह (गोधूलि परिवार)

 
यह शरीर पूर्वजो का ऋण है - 
वीरेंद्र सिंह 
(गोधूलि परिवार)







Comments

Popular posts from this blog

सूर्य ग्रहण में सूतक के नियम एवं जानकारियाँ

घी क्यों और कितना खाएं? - इस विषय पर संक्षिप्त परन्तु तृप्त करने योग्य जानकारी।

*कश्यपसंहिता में वर्णित 3 हज़ार वर्ष पुराना आयुर्वेदिक टीकाकरण - स्वर्णप्राशन*