दुनिया में शेर है भारत, परिक्षण का चूहा नहीं





दुनिया में शेर है भारत, परिक्षण का चूहा नहीं.

क्या आपको पता है?
टीको को बनाने और बाजार में उतारने के नियम और मानक
अन्य एलॉपथी की दवाइयों के मजूरी वाले मानकों से अलग होते है
यदि टीको को बाजार में उतारने के मानक अन्य दवाइयों के मानकों की तरह कर दिए जाए
तो संभवतः कोई भी टीका बाजार में उतारने योग्य न हो।
इसीलिए कंपनियां कई देशो की गरीब लोगो पर यह परिक्षण उनकी भलाई के नाम पर
करती है जो उन्हें बहुत सस्ता पड़ता है
टीको के पीछे का आर्थिक लाभ कितना बड़ा है इसका अनुमान केवल इसी बात से लगाया जा सकता है
कि बच्चो के टीकाकरण के चार्ट में एक नया टीका जोड़ने से एक कंपनी हज़ारो करोड़ का धंधा करती है
और कोरोना का टीका बनाकर दुनिया के हर व्यक्ति को लगाने से होने वाली कमाई इतनी अधिक है कि
इस दौड़ में जिसने पहले टीका बना लिया उसके लिए यह सोने की खान साबित होगी
पाकिस्तान ने चीन को अपने नागरिको पर कोरोना के टीके के परिक्षण की आज्ञा दी है
क्योंकि चीन उसके क़र्ज़ माफ़ करेगा या अन्य प्रकार के लाभ उसको मिल सकते है
चीन ने ऐसे ही क़र्ज़ माफ़ी के द्वारा श्रीलंका की एक बंदगाह पर कब्ज़ा कर लिया है
भारत भी सदा से विश्व बैंक से कर्ज़े लेकर ऐसी ही उटपटांग शर्तो के को पूरा करता आ रहा है और वह अभी भी
जारी है
जिसके भयंकर परिणाम न जाने किस प्रकार की आर्थिक, सामाजिक , बौद्धिक या अन्य किसी भी प्रकार की गुलामी के रूप
हमारी पीढ़ियाँ भुगतेंगी!
ऐसे ही भारत में कई वर्षो से हमारी सुदूर प्रदेशो में सरकारी तंत्र को दान देकर
इस प्रकार से टीको के परिक्षण किये गए है

और आगे भी चोरी छुपकर ऐसे परिक्षण नहीं होंगे इसकी कोई आशा नहीं दिखती
भोले भाले लोगो पर कई प्रकार के लालच देकर सस्ते में
अपने बच्चो को इनके परिक्षण का चूहा नहीं बनने देंगे और
संभव हुआ तो अन्य देशो की जनता तरह पुरज़ोर विरोध करेंगे
क्योंकि बिना रोये तो अपनी माँ भी सुनती नहीं और दूध नहीं पिलाती
यह तो सरकार है विरोध करेंगे तो सुनेगी नहीं तो सब कुछ इनकी मर्ज़ी और सरकारी तंत्र की
सीमित बुद्धि अनुसार चलता रहेगा
इस वीडियो को देखें की कैसे आज जो पाकिस्तान में हो रहा है
वो आपके देश में किसी और रूप में हो सकता है!
यदि आपके क्षेत्र में किसी भी प्रकार के सरकारी या किसी कंपनी के अभियान के कारण
कोई दुष्प्रभाव सामने आता है तो आज ही उसका वीडियो बनाकर हमें भेजे या सोशल मीडिया पर फैलाएं
और यदि भारतीय पद्धति के कारण लाभ हुआ है तो उसे भी फैलाएं
संपर्क virendersingh16@rediffmail.com
TIK-TOK देखना बहुत हुआ इस
जीवन में देशहित में कुछ तो करो
इस जानकारी को सबको भेजो
देह एवं देश हित में
वन्दे मातरम

Comments

Popular posts from this blog

सूर्य ग्रहण में सूतक के नियम एवं जानकारियाँ

घी क्यों और कितना खाएं? - इस विषय पर संक्षिप्त परन्तु तृप्त करने योग्य जानकारी।

*कश्यपसंहिता में वर्णित 3 हज़ार वर्ष पुराना आयुर्वेदिक टीकाकरण - स्वर्णप्राशन*