इसे कहते है थूककर चाटना! सैनिटाइज़र खतरनाक: स्वास्थ्य मंत्रालय की बड़ी चेतावनी, न करें अधिक इस्तेमाल

 



इसे कहते है थूककर चाटना!

************************ सैनिटाइज़र खतरनाक: स्वास्थ्य मंत्रालय की बड़ी चेतावनी, न करें अधिक इस्तेमाल
क्या आपको पता है कि ज्यादा सैनिटाइटर का इस्तेमाल नुकसानदेह है। जी हां, हाल ही में सैनिटाइजर को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय ने चेतावनी जारी की है ई दिल्ली: पूरी दुनिया इन दिनों कोरोना महामारी से जंग लड़ रही है। कोरोना से बचने के तमाम देशों में वैक्सीन पर ट्रायल चालू है, हालांकि ये लोगों के पास कब तक आएगा ये साफ नहीं हो पाया है। ऐसे में इससे बचने के लिए मास्क और सैनिटाइजर ही लोगों के पास हथियार के रूप में बचा है।

निचे दिए गए निर्देश में एक बहुत महत्वपूर्ण बात कही गई है कि लोगो के ऊपर किसी भी परिस्थति में किसी भी प्रकार का जीवाणु रोधक कोई केमिकल न छिड़का जाए क्योंकि यह शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से हानि करता है।

परन्तु यदि आप लोगो की स्मृति थोड़ी अच्छी हो तो शायद आपको याद होगा कि इस देश में जो अद्वितीय पहल हमारे माननीय प्रधान सेवक ने सम्पूर्ण लॉकडाउन लगाकर अपने अद्भुत बुद्धि का परिचय दिया था उसी की कड़ी में मज़दूरों का ऊपर अमानवीय तरीके से एक खतरनाक रसायन जो किसी भी रूप में किसी जानवर तक के ऊपर नहीं छिड़कना चाहिए था वह disinfectant (Sodium Hypochlorite) मज़दूरों के ऊपर छिड़का गया।

यह दिखाता है कि इस देश में आपातकाल के दौरान नसबंदी से लेकर कोरोना काल में हुए नर-संहार सबको यदि सरकार का साथ हो तो आराम से अंजाम दिया जा सकता है।



कागज़ो में सरकार स्वयं को बिलकुल पवित्र बनाकर रखती है परन्तु ज़मीनी वास्तविकता उस से कोसो दूर होती है क्योंकि उन्हें अच्छे से पता है कि चुनाव से पहले कुछ सुविधाएं देकर इन्ही लोगो से वोट भी ले लेंगे क्योंकि जनता की स्मरण शक्ति कमज़ोर होती है।  




स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी की चेतावनी
लेकिन क्या आपको पता है कि ज्यादा सैनिटाइटर का इस्तेमाल नुकसानदेह है। जी हां, हाल ही में सैनिटाइजर को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय ने चेतावनी जारी की है। दरसल स्वास्थ्य मंत्रालय ने लोगों को सलाह दी है कि वे हैंड सैनिटाइजर का ज्यादा इस्तेमाल न करें। इसका बहुत अधिक उपयोग हानिकारक भी हो सकता है। सैनिटाइजर को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय के अतिरिक्त महानिदेशक डॉ. आरके वर्मा ने कहा कि अपने आप को कोरोना से बचाने के लिए मास्क का प्रयोग करें, बार-बार गर्म पानी पिएं और अपने हाथों को धोते रहें और बेवजह सैनिटाइज़र का उपयोग न करें। अच्छे बैक्टीरिया को मार सकता है सैनिटाइज़र
गौतलब है कि जानकारों ने पहले भी चेतावनी दी थी कि सैनिटाइज़र का ज्यादा इस्तेमाल त्वचा को स्वस्थ रखने वाले अच्छे बैक्टीरिया को मार सकता है। विशेषज्ञों का कहना है कि जब साबुन और पानी उपलब्ध हो तो सैनिटाइज़र के बजाय साबुन और पानी का इस्तेमाल करना चाहिए। सैनिटाइजर के अधिक इस्तेमाल से बचना चाहिए।
देखा जाय तो पिछले लगभग छह महीने से कोरोना की वजह से हम ज्यादातर सैनिटाइजर पर निर्भर हो गए हैं। कामकाज के लिए बहार जाना हो या ऑफिस, हर जगह साबुन-पानी न होने से लोग सैनिटाइजर का ही इस्तेमाल करते हैं, लेकिन जहां तक संभव हो इसके अधिक उपयोग से बचें।


जानकारी जनहित में जारी
-वीरेंद्र सिंह

Comments

Popular posts from this blog

त्रिफला खाकर हाथी को बगल में दबा कर 4 कोस ले जाएँ! जानिए 12 वर्ष तक लगातार असली त्रिफला खाने के लाभ!

डेटॉक्स के लिए गुरु-चेला और अकेला को कैसे प्रयोग करें / How to use Guru Chela and Akela for Detox (with English Translation)

*कश्यपसंहिता में वर्णित 3 हज़ार वर्ष पुराना आयुर्वेदिक टीकाकरण - स्वर्णप्राशन*